ब्लॉगिंग में आने वाली रुकावटें

ब्लॉगिग से संबंधित अपनी पिछली पोस्ट में मैने बताया था कि कैसे ब्लॉगिंग से परेशानियां और खतरे
हैं। आज मैं बताना चाहती हूं कि ब्लॉगिंग में कैसा-कैसी रुकावटें आती हैं।

  • कोई विषय न मिलना (Blogger’ block) :  कभी कभी ऐसा होता है कि आप चिठ्ठाकारी करते करते उब जाते हैं और आप को कोई नया विषय ही नहीं सूझता जिस पर आप लिख सकें। यह ब्लॉगिंग की सबसे बड़ी समस्या है जिसको लेकर बहुत कुछ लिखा गया है।
  • आपके विषय पर किसी और का लिखा जाना :  यह तब होता है जब आप किसी विषय पर लिखने की सोच रहे होते है पता चलता है कि किसी अन्य चिठ्ठाकार ने उसी विषय पर बहुत ही अच्छा लिख मारा है तो आप का सारा उत्साह काफूर हो जाता है।
  • ऑफिस में लोगो द्वारा निगाह रखना  :  जो लोग अपने ऑफिस से छिप कर ब्लाग लिखते हैं उनको ये परेशानी रहती है किसा को पता न चल जाय या फिर कोई देख न ले या फिर किसी दिन कुछ अच्छा लिखने का मन है, विषय भी तैयार है पर उसी दिन ऑफिस में काम ज्यादा आ गया या फिर कोई आप से ऑफिस में मिलने आ गया या बॉस ने बुला लिया तो गई उस दिन की ब्लॉगिंग!
  • बिजली का जाना :  आप ब्लॉगिंग के लिये तैयार हैं, धांसू सा विषय भी सोच लिया लेकिन जैसे ही कंप्यूटर ऑन किया कि बिजली चली गई। दिल्ली, मंबई की बात अलग है, बाकी देश में कोई गारंटी नहीं है कि कब बिजली आयेगी। ऐसे में लैपटॉप से थोड़ा बहुत काम चल सकता है लेकिन पूरा नहीं।
  • इंटरनेट कनेक्शन डाउन होना : आप ने सब कुछ कर लिया। विषय चुन लिया, उस पर मैटर टाईप भा कर लिया कर लिया, और जैसे ही पोस्ट करने बैठे कि पता चला इंटरनेट कनेक्शन डाउन हो गया। अब भुनभुनाते रहिये। ये समस्या सबसे ज्यादा बीएसएनएल (BSNL)  के साथ आती है।
  • रिश्तेदारों का आना :  जैसे ही आप ब्लॉगिंग के लिये अपने आप को तैयार करते है कि पता चलता है पड़ोस के लोग या रिश्तेदार आपसे मिलने के लिये चले आये हैं और आपका पूरा समय सामाजिकता निभाने में ही चला जाता है।
  • बच्चों का लढियाना :  किसी किसी दिन बच्चे भी आपको दिन भर घेरे रहते हैं और आप ब्लॉगिंग नहीं कर पाते हैं। जिनके बच्चे छोटे हैं उनके साथ तो और भी ज्यादा परेशानी है।
  • कमाई न होना  :  ऐसा हिन्दी व अन्य भाषाओं के चिठ्ठाकारों के साथ ज्यादा होता है। अपने ब्लॉग से किसी भी प्रकार की कोई कमाई न होने से भी चिठ्ठाकार का उत्साह खत्म  हो जाता है और वो ब्लॉगिंग छोड़ देता है।
  • टिप्पणी न मिलना :  ये समस्या हिन्दी ब्लॉगिंग में कुछ ज्यादा है , यहां अगर किसी ब्लॉगर को प्रशंसा वाली टिप्पणियां न मिले तो उसको लगता है कि उसके लेखन किसी ने देखा ही नहीं और वो ब्लॉगिंग के प्रति निराश हो जाता है।
ब्लॉगिंग में और भी तमाम तरह का परेशानियां आती रहती हैं। लेकिन उत्साही चिठ्ठाकार फिर भी ब्लॉगिंग करते रहते हैं।

विज्ञापन

17 टिप्‍पणियां

  1. पत्नी की ब्लॉगिंग से चिढ़ होना सबसे प्रबल समस्या है जी !

    पत्नियों का वश चले तो साथी ब्लॉगरों को लाइन में खड़े करके गोली मार दें !

    उत्तर देंहटाएं
  2. बेहद जानकारी भरा आलेख..
    आपकी प्रस्तुति बहुत ही कारगर है.
    बधाई हो ..

    उत्तर देंहटाएं
  3. mai vivek singh ji ki baat se puri tarah sahmat hu
    or tippani wali baat ko no.1 par rakhna chahiye

    उत्तर देंहटाएं
  4. कमाई न होना : ऐसा हिन्दी व अन्य भाषाओं के चिठ्ठाकारों के साथ ज्यादा होता है। अपने ब्लॉग से किसी भी प्रकार की कोई कमाई न होने से भी चिठ्ठाकार का उत्साह खत्म हो जाता है और वो ब्लॉगिंग छोड़ देता है।

    मुझे लग रहा है कि मेरे लिये तो यह एक बहुत बड़ा कारण है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. ऊपर के तीनो कारण.. मेरे साथ कई बार हो जाते है..

    उत्तर देंहटाएं
  6. एक दम ठीक मुशकिलें बताई हैं..और विवेक भाई वाली सबसे बडी है..

    उत्तर देंहटाएं
  7. नौकरी के साथ-साथ ब्लॉग्गिंग के लिए समय निकालना वास्तव में एक टेढी खीर है ,पर "जहाँ चाह,वहाँ राह"
    बहुत ही शानदार विश्लेषण ,वास्विक धरातल को जोड़ते हुए

    उत्तर देंहटाएं
  8. विश्लेषण सचमुच बहुत बढिया किया आपने!!!!!!

    उत्तर देंहटाएं
  9. आपने बोर हो जाने के बारे में नहीं लिखा?

    मुझ जैसे लोग जो हर चीज़ से देर-सबेर बोर हो जाते हैं, उनकी ब्लॉगिंग को सबसे बड़ा खतरा इसी से है.

    उत्तर देंहटाएं
  10. अच्छा है विचार करना पड़ेगा कि हम अभी तक ब्लॉगिंग में क्यों टिके हुए हैं .....

    उत्तर देंहटाएं
  11. भाई रुकावटें तो आती ही रहती हैं, रुकावटों से भला क्या डरना? हमें तो है रुकावटों से लड़ना। :-)

    अच्छा लेख!

    उत्तर देंहटाएं
  12. One more problem And i.e., Patience.
    Patience to continue is the utmost requirement no matter we are bored, not having a topic, no income etc. etc.
    I am facing all such problems said above through the post but I am trying The Best To continue...
    Keep writing - I say.
    Enjoy !

    उत्तर देंहटाएं
  13. बहुत बढिया विश्लेषण.... अच्छी प्रस्तुति....बहुत बहुत बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  14. बहुत बढिया विश्लेषण...अच्छी प्रस्तुति....बहुत बहुत बधाई...

    उत्तर देंहटाएं
  15. ere bhai aap log kitna kama lete ho,''''''''''''''me bhi bloger hoon likin mujhe ye dekne ki jyada utsukta rahti e ki mera blog kitne aadmi kol rae the

    उत्तर देंहटाएं