नकली नोट का पता आखिर कैसे लग सकता है?

अगर आप बैंक जायें तो आप देखेंगे कि जगह जगह इस बात के पोस्टर लगे रहते हैं कि आप अपने नोट के नकलीपन को कैसे पहचान सकते हैं। इसके अलावा सरकार समय समय पर विज्ञापन इस संदर्भ में देती रहती है। इसी तरह का एक विज्ञापन मैंने नीचे दिया है। दरअसल भारत में नकली नोट की समस्या बहुत बड़ी हो चुकी है और अब तो बैंको के एटीएम से भी नकली नोट निकल रहे  हैं। अब हालत ये है कि कहीं भी जायो, कुछ खर्च करो, पहले सामने वाला आपके नोट का परीक्षण करता है। नकली नोट दो तरह से बन रहे हैं। एक तो भारत में कुछ लोग स्कैन करके प्रिंटर और कंप्यूटर की मदद से नकली नोट छापने वाले, ये लोग कम ही मात्रा में छाप पाते हैं और इस तरह के नकली नोट को ही आप पकड़ सकते हैं। दुसरे नोट वो हैं जो पाकिस्तान में वहां की सरकार आईएसआई के द्वारा वहां की राजकीय प्रेस से छपवा कर भेज रही है। इस तरह का नोट नकली होने पर भी असली हैं क्योकि ये पाकिस्तान की अधिकृत प्रेस मे छप रहे हैं जहां पर इनको वो सारी तकनीक उपलब्ध जिससे भारतीय रिजर्व बैंक नोट छापता है। यानी रिजर्व बैंक कुछ भी युक्ति अपनाये, ये लोग असका तोड़ निकाल लेगे। आप इसी से अंदाज लगा सकते हैं कि ये नोट असली जैसे ही होते हैं और भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद कर रहे हैं। अस समस्या का इलाज तो सरकार पाकिस्तान पर दबाव डालकर ही निकाल सकती है अन्यथा हम लोग ऐसे ही नकली नोट लिये बैठे रहेंगे। ऐसे नकली नोट जो कि असली जैसे ही हैं का पता अखिर कोई व्यक्ति कैसे लगा सकता है?
Know Bank Note नकली नोट

विज्ञापन

5 टिप्‍पणियां

  1. Good post.

    I have a very simple solution for this fake note menace. Just close down our own currency printing presses thereby save thousands of crores of rupees and give contract to Pakistan to print our currency notes. Fake note problem would be solved overnight and we can use our investigative forces (read police etc.) for more useful results.

    उत्तर देंहटाएं
  2. In the age of plastic money there is no need of big notes like 500 and 1000 there are used only for coruption and bribe. govt should withdraw the big currency

    उत्तर देंहटाएं
  3. Really dont print big notes RBI should issue cards to user.

    उत्तर देंहटाएं