आईपीएल के चाहने वाले दीवाने होते है क्या?

दिल्ली में आजकल एफएम रेडियो पर और टीवी पर भी विभिन्न चैनलों पर आईपीएल-3 (IPL-3) के लिये टिकटों की बिक्री के लिये विज्ञापन बज रहे हैं, और दिखाये जा रहे हैं। इन विज्ञापने को देख सुन कर तो ऐसा लगता है मानो आईपीएल देखने वालों को होश ही नहीं है कहां पर क्या बात करनी है? मसलन एक विज्ञापन में कुछ लड़के रेल से उतर कर जा रहे हैं और रेलवे के टिकट परीक्षक को देखकर उसे टिकट नहीं दिखाकर उसे आईपीएल का टिकट दिखाते हैं, दुसरे इसी तरह के विज्ञापन में एक आदमी सिनेमा हॉल की टिकट खिड़की पर जाली के पास की आईपीएल की टिकट मांग रहा है यानी आईपीएल के टिकट खरीदने वाले दीवानों (पागलों) की तरह कहीं भी आईपीएल का टिकट खरीदने पहुंच रहे हैं। एक और विज्ञापन में एक आदमी जिसकी पत्नी ने सिंगापुर भ्रमण के लिये टिकट खरीदने के लिये व्रत रखा होता है, आईपीएल का टिकट खरीद लाता है। मैं सोच रही हूं कि फागुन और बसंत के बौराने के मौसम का प्रभाव है या फिर अप्रैल फूल डे आने वाला है उसका असर है कि लोग आईपीएल के टिकट के लिये बौराये से घूम रहे हैं और दीवानों जौसी हरकते कर रहे हैं।

विज्ञापन

8 टिप्‍पणियां

  1. meri maniye to aap bhi wakt nikal kar ipl dekh hi lijiye

    उत्तर देंहटाएं
  2. kuch hosh nahi rahta , kuch dhyan nahi rahta,
    mohhabat me insan, insan nahi rhata.

    उत्तर देंहटाएं
  3. yeh ishq nahi asan bas itna samajh leeje ,
    first match se saansen ruki hai , final to bahut der me aana hai .....
    luv u all , spidey ...

    उत्तर देंहटाएं
  4. RAM JEE BAJITPUR MANIGACHI DARBHANGA SAID:-----------------
    aap kyo ruke hue hai aap bhi IPL me join le ligiye, hum ko pata hai ki aap jab IPL me join ligiyega to aap bahut khus reheyega
    jaise dekh ligiye lakho ki janshankhya me ticket katwa kar IPL dekhne jata hai, isliye aap bhi jaiye

    उत्तर देंहटाएं
  5. Anonymous tu to mujhe nichi soch vala lgta ta hai bina soche smjhe kuch bhi bakvas karta hai.

    उत्तर देंहटाएं
  6. ipl are business this is time best only

    उत्तर देंहटाएं