बीन बजा कर कमाने वाला

पिछले दिनों हम एक पहाड़ी पर्यटन स्थल पर परिवार सहित घूमने गये हुये थे। वहां के मुख्य बाजार में घूमते घूमते एक जगह पर हमने देखा कि एक व्यक्ति ने सपेरे वाली बीन बजानी शुरु कर दी और लोगों का मनोरंजन करने लगा। लोग बाग खुश होकर खुद ही कुछ न कुछ रुपये पैसे उसके आगे रखने लगे। हमें भी ये काफी अच्छा लगा और हमने उसका एक वीडियो भी अपने कैमरे से बना लिया। आप भी इसको सुनिये और आनन्द लीजिये।

  

Manisha मंगलवार, 18 अक्तूबर 2016
सोशल मीडिया पर हिंदी के नये शब्द बन रहे हैं

सोशल मीडिया पर हिंदी के नये शब्द बन रहे हैं



सोशल मीडिया जो कि खुद भी एक नया हिंदी का शब्द बन गया है क्योंकि हिंदी में इसे ही अपना लिया लगता है। इंटरनेट पर हिंदी की विषय सामग्री वैसे ही कम है, अब हिंदी के अधिकांश ब्लॉगर और लिखने वाले फेसबुक और ट्विटर पर चले गये हैं क्योंकि वहां पर तुरंत पढ़ने वाले मिलते हैं।  सोशल मीडिया का प्रयोग दिन पर दिन बढ़ता जा रहा है और बढ़ते जा रहे हैं उस पर हिंदी में लिखने वाले। ये हिंदी वाले  अधिकांश भावना प्रधान होते हैं, और भावना में ही वो अपनी बात भावनाओं में बह कर ही करते हैं। इसी कारण से अपनी बात कहने के लिये नये नये शब्दों को बना रहे हैं।  वैसे भी किसी भाषा का विकास नये नये शब़्दों के निरंतर सृजन से ही होता है।

New Words in Hindi on Social Media
सोशल मीडिया पर हिॆदी के नये शब्द बन रहे हैं

इधर जब से देश में मोदी और केजरीवाल का प्रभाव बढ़ा है  तब से उनके समर्थक और विरोधी  सोशल मीडिया  पर कुछ ज्यादा ही  सक्रिय होकर अजीब अजीव से नये शब्द बना कर लिख रहे हैं।  वामी , कांगी, आपिया, अपोला, आपटर्ड, भक्त, अंधभक्त, शांतिदूत, शांतिप्रिय, सूतिया, चादरमोद, लकड़बग्घा, शर्मनिरपेक्ष इत्यादि कुछ शब्द हैं जो कि सोशल मीडिया पर ईजाद किये गये हैं।  इसके अलावा भी कुछ अन्य शब्द हैं जो नये बने हैं। आप भी इन शब्दों का सोशल मीडिया पर आनन्द लीजिये।


Manisha रविवार, 2 अक्तूबर 2016