www.HindiDiary.com: फिल्म
Results for " फिल्म "

शेयर बाजार (स्टॉक मार्केट) आधारित फिल्में और वेब-सीरीज


Stock Share Market शेयर बाजार


शेयर बाजार किसी भी देश के आर्थिक जगत का बहुत बड़ा बैरोमीटर है जिससे उस देश कि अर्थव्यवस्था का कुछ कुछ अंदाजा लगाया जा सकता है। विभिन्न कंपनियों के स्टाक्स को शेयर बाजार में खरीदा बेचा जाता है और उससे कंपनियों की पूंजी बढ़ती घटती रहती है।

 

करोड़ों लोग इन शेयर बाजारों में अपनी किस्मत आजमाते हैं। इसलिये इस विषय का असर बहुत व्यापक है।


हिंदी, अंग्रेजी और अन्य भाषाओं में भी शेयर बाजार के ऊपर आधारित फिल्में, टीवी श्रंखलायें, वेब सीरीज और ढेर सारी डाक्यूमेंट्री (documentary) बने हैं। किसी किसी फिल्म में कथानक का मूल शेयर बाजार होता है वहीं कुछ में वो घटनाकृम में रहता है। 


यहां पर हम कुछ ऐसी ही हिंदी/अंग्रेजी फिल्में, वेब सीरीज की चर्चा करेंगे जो कि या तो शेयर बाजार के माहिर खिलाड़ियों के ऊपर हे या फिर रोजाना काम करने वाले ट्रेडर्स के उपर बनी हैं।



शेयर बाजार पर बनी हिंदी फिल्में

शेयर बाजार को लेकर हिंदी फिल्मों और टीवी धारावाहिकों का रुख कुछ नकारात्मक सा ही है। स्टॉक मार्केट को सट्टा की तरह पेश किया जाता है जहां पर लोग रातों रात धनी बन जाते हैं या फिर धनी व्यक्ति की कंपनी के शेयर इतने गिर जाते हैं कि उसका सब कुछ बिक जाता है और वो और उसका पूरा परिवार सड़क पर आ जाता है।

यही कारण है कि हिंदी में शेयर बाजार को लेकर कुछ चंद फिल्में ही बनी हैं।  हमारी जानकारी में यहां नीचे बताई गई हिंदी फिल्में ही स्टॉक मार्केट पर बनी हैं।



  1. शेयर बाजार (Share Bazar) (1987) - ये हिंदी फिल्म शेयर बाजार के दो ट्रेडर भाइयों मनसुख और हंसमुख मेहता के उपर बनी है जो कि बांबे स्टॉक एक्सचेंज में उठापटक करते हैं। इस फिल्म में जैकी श्राफ और डिम्पल कपाड़िया ने लीड रोल में काम किया है।
  2. गफला (Gafla) (2006) - ये फिल्म बांबे स्टॉक मार्केट में हुये 1992 के बदनाम प्रतिभूति घोटाले के मुख्य आरोपी हर्षद मेहता के जीवन पर आधारित है। ये फिल्म यू-ट्यूब पर देखने के लिये उपलब्ध है।
  3. सास बहू और सेन्सेक्स (Saas Bahu aur Sensex) (2008)  ये एक हिंदी फिल्म है जो 2008 में आई थी। शोना ऊर्वशी द्वारा निर्देशित इस फिल्म में शेयर बाजार में पैसा लगाने का और वहां काम करने के बारे में कुछ कहने के साथ ही साथ अन्य मसाले डाल कर बनाई गई एक मसाला हिंदी फिल्म है। इस फिल्म में किरण खेर, तनुश्री दत्ता, अंकुर खन्ना, फारूख शेख इत्यादि ने काम किया है।  
  4. जो हम चाहें (Jo Hum Chahein) (2011) - नवोदित कलाकार हीरो सनी गिल, हीरोईन सिमरन मुंडी  और नवोदित निर्देशक पवन गिल सबकी ये पहली फिल्म थी जिसमें हीरो MBA करने के बाद बांबे स्टॉक मार्केट में ट्रेडर बन कर अपनी आजीविका चलाना शुरू करता है।  
  5. बाजार (Bazaar) (2018) - सैफ अली खान इस फिल्म के हीरो हैं जो कि किसी भी तरह से शेयर बाजार मे पैसा कमाने में विश्वास करता है। स्टॉक मार्केट के कई काली सफेद गतिविधयां इसमें दिखाई गई हैं जैसे कि इनसाइडर ट्रेडिंग इत्यादि।
  6. स्कैम 1992 - द हर्षद मेहता स्टोरी (Scam 1992 - the Harshad Mehta Story) (हिंदी) - सोनी लिव (SonyLiv) पर उपलब्ध हो गया है। जैसा कि नाम से जाहिर है ये फिल्म हर्षद मेहता के जीवन पर आधारित है।
  7. द बिग बुल (The Big Bull) (हिंदी) (2020) - अमेजन प्राइम (Amazon Prime) पर उपलब्ध होने वाली है। इसको अजय देवगन और कुकी गुलाटी ने बनाया है और इसके मुख्य कलाकार में अभिषेक बच्चन हैं। ये फिल्म भी हर्षद मेहता के जीवन पर आधारित है।

Scam 1992 Harshad Mehta Story on SonyLiv


शेयर बाजार आधारित हिंदी वेब सीरीज

भारत में अभी OTT आधारित प्लेटफार्म का विकास हो रहा है। ऐसे में में नये नये विषय के लिये हो सकता है कि कुछ वेब सीरीज शेयर बाजार पर भी बनें। 

फिलहाल तो हमें केवल शेयर बाजार आधारित हिंदी वेब सीरीज में एक ही सीरीज मिली है जो कि नीचे बताई है।
  • द बुल ऑफ दलाल स्ट्रीट (The Bull of Dalal Street) (हिंदी) - एसएक्स प्लेयर (MX Player) पर उपलब्ध 
  • शेयर बाजार पर इम्तियाज अली की लघु फिल्म (YouTube पर उपलब्ध)


स्टॉक मार्केट आधारित अंग्रेजी में बनी फिल्में

अंग्रेजी भाषा में फिल्म बनाने में अमेरिका का हॉलीवुड (Hollywood) सबसे बड़ा केन्द्र है। वहां पर हमेशा नये नये विषय पर फिल्में बनाने का काम चलता रहता है। 

जाहिर सी बात है कि अंग्रेजी में हॉलीवुड ने बहुत सारी शेयर बाजार आधारित फिल्में और वेब-सीरीज बनाई हैं। 

हमने यहां नाचे ऐसी अंग्रेजी फिल्मों कि सूची बनाई है जो शेयर बाजार पर आधारित हैं। इनमें से कई फिल्में आपको हिंदी भाषा में डब होकर भी देखने को मिल जायेंगी।  

अगर आप यूट्यूब, नेटफ्लिक्स, हॉटस्टार, अमेजन प्राइम, जी5, सोनीलिव आदि OTT पर अगर खोजेंगे तो आपके ये फिल्में अंग्रेजी में या हिंदी में डब होकर मिल जायेंगी और आप इनको देख सकते हैं।



  1. ट्रेडिंग प्लेसेज - Trading Places (1983)  
  2. वॉल स्ट्रीट - Wall Street (1987)  
  3. अदर पीपुल्स मनी - Other People's Money (1991)
  4. बारबेरियंस एट द गेट - Barbarians at the Gate (1993)  
  5. रोग ट्रेडर - Rogue Trader (1999)  
  6. बॉयलर रूम - Boiler Room (2000)  
  7. वॉल स्ट्रीट वारियर्स - Wall Street Warriors (2006)  
  8. मिलियन डॉलर ट्रेडर्स - Million Dollar Traders (2009)  
  9. मार्जिन कॉल Margin Call (2011)  
  10. टू बिग टू फेल - Too Big to Fail (2011)  
  11. वॉल स्ट्रीट - मनी नेवर स्लीप्स - Wall Street – Money Never Sleeps (2011)  
  12. आर्बीट्रॉज - Arbitrage (2012)  
  13. द वोल्फ ऑफ वॉल स्ट्रीट - The Wolf of Wall Street (2013)  
  14. द बिग शॉर्ट - The Big Short (2015) 
  15. इक्विटी - Equity (2016)
  16. मनी मॉन्स्टर - Money Monster (2016)


स्टॉक मार्केट पर डाक्यूमेंटरी

  1. बूम डस्ट बूम - Boom Bust Boom -- Strengths & Weaknesses of US economy
  2. ट्रेडर - Trader -- Documentary on legendary trader Paul Tudor Jones
  3. बिकमिंग वारेन बफेट - Becoming Warren Buffett -- Documentary on Buffett's upbringing
  4. 25 मिलियन पाउन्ड - 25 Million Pounds -- Financial & Thriller documentary
  5. द चाइना हसल - The China Hustle (2018) – Finance & Trade Documentary 
  6. द कॉरपोरेशन - The Corporation (2003) -- Finance Documentary
  7. बिलियन डॉलर डे - Billion Dollar Day (1985) - Documentary
  8. द एसेन्ट ऑफ मनी - The Ascent of Money (2008) -- Finance Documentary
  9. केपिटलिज्म - ए लव स्टोरी - Capitalism: A Love Story (2009) -- Finance Documentary 
  10. फलोर्ड - Floored (2009) -- Stock Trading Documentary 
  11. इनसाइड जॉब - Inside Job (2011) – Financial Crisis 2008, Finance Movie 
  12. बेटिंग ऑन जीरो - Betting On Zero -- Big bet on short selling on one company
  13. हैंक: 5 ईयर्स फ्रोम द ब्रिंक - Hank: 5 Years from the Brink -- Bailout of the banking system in 2008
  14. चेजिंग मैडॉफ - Chasing Madoff (2011)
  15. मनी फॉर नथिंग - Money for Nothing (2013)

आखिरी बात


तो ये सब जो फिल्में जो शेयर बाजार पर आधारित हेैं, उनको आपको जरूर देखना चाहिये यदि आप स्टॉक मार्केट में थोड़ी बहुत भी दिलचस्पी लेते हैं। 

हालीवुड की कुछ फिल्में तो वैसे भी बहुत प्रसिद्ध हैं, उनको तो बिना शेयर बाजार के केवल रोमांच और अच्छे अभिनय तथा कथानक के लिये देखा जा सकता है।

Manisha मंगलवार, 25 अगस्त 2020

ट्रैवलिंग यात्रा सफर पर्यटन सफर शेर-शायरी मुहावरे गाने और वाक्य



ट्रैवलिंग यात्रा सफर सैर शेर-शायरी मुहावरे वाक्य



यूं आजकल पर्यटन ट्रैवलिंग का शौक काफी बढ़ गया है। हर किसी को दुनिया घूमने का शौक़ नहीं होता, पर जिन्हें होता है वो ही जानते हैं कि जगह जगह घूमना क्या होता है। घमुक्कड़ ही पर्यटन के लिये यात्रा की असली क़ीमत समझते हैं।  घूमने-फिरने से हमें जो भी मिलता है वो पढ़ने लिखने या फिर क़िताबें पढ़ कर नहीं पा सकते। 

चाहे धार्मिक कारण हो, चाहे ज्ञान की उत्कंठा हो, व्यापार के लिये हो या फिर पर्यटन के लिये ही यात्रा हो, अनंत काल से मनुष्य यात्रा कर ही रहा है। अलग अलग भाषाओं में पर्यटन के कारण जन मानस में कुछ बाते, वाक्य, मुहावरे, कवितायें, गाने, शेर-शायरी लोगों के दिलो दिमाग में बैठ गई हैं।  

इसी घुमक्कड़ी, पर्यटन, ट्रैवलिंग और सफर पर आधारित कुछ बातें, वाक्य, शेर-ओ-शायरी, फिल्म गाने और संवाद इत्यादि का हिंदी भाषा में संकलन हम यहां आपके लिए लेकर आएं है जो आपको काफी पसंद आएगा, ऐसी उम्मीद है। Travelling Tourism Sher Shayari Status Quotes Songs in Hindi. आप अपनी टिप्पणी के माध्यम से पर्यटन के अपने पसंद की ऐसी ही लाइनें, गाने वगैरह साझा कर सकते हैं।


 ट्रैवलिंग और टूरिज्म से संबंधित  शेर-शायरी, मुहावरे, कहावतें, गाने, वाक्य, Status and Quotes का ये संकलन अपने आप में पूर्ण संकलन नहीं है। जैसे जैसे नई बाते पता लगती जायेंगी यहां पर समय समय पर अद्यतन (Update) किया जाता रहेगा। 




पर्यटन से संबंधित शब्द/Words

  • यात्रा (Yatra) – To Travel
  • यात्री (Yatri) – Traveller
  • पर्यटक (ParyaTaka) – Tourist
  • पर्यटन ( ParyaTan) – Tourism
  • पथिक (Pathik) – That on the road
  • प्रवासी (Pravasi) – Living in another country
  • सफर (Safar) - यात्रा To Travel
  • मुसाफिर (MusaFir) - यात्री Traveller
  • घूमना (GhumNa) – यात्रा To Travel
  • फिरना (FirNa) – To Travel
  • घुमक्कड़ (Ghumakkar) - मुसाफिर/यात्री Traveller
  • घुमक्कड़ी (Ghumakkari) - यात्रा To Travel
  • भ्रमण (Bhramarh) - यात्रा To Travel 

 

Travelling and Tourism Status in Hindi

पर्यटन/यात्रा/सफर की हिंदी कहावतें/वाक्य/विचार


  • किसी जगह के बारे में ज़िन्दगी भर सुनने से अच्छा है कि एक बार उसे जाकर खुद देख लो।
  • बहुत हो गया काम काज, चल यार कहीं घूम के आते हैं।
  • दुनिया एक किताब है, और जो यात्रा नही करते है वे केवल एक पन्ना पढ़ते है।  
  • जिन्दगी जीने का असली मजा यात्रा में ही हैं।  
  • हजारों मील की यात्रा भी एक कदम से शुरू होती है।
  • सत्य से पराजित होने के पूर्व झूठ आधी दुनिया की यात्रा कर लेता है।  
  • आपकी यात्रा सफल और सुखद हो।
  • वही सबसे तेज चलता है, जो अकेला चलता है। 
  • समय किसी की प्रतीक्षा नहीं करता।
  • जिंदगी, जिंदादिली का नाम है, मुर्दादिल क्या ख़ाक जिया करते हैं।
  • धीरे चलोगे तो बार बार मिलेंगे, नहीं तो हरिद्वार में मिलेंगे।
  • कोस कोस पर पानी बदले, चार कोस पर वाणी।
  • मियाँ की दौड़ मस्जिद तक।
  • सफलता एक निरंतर यात्रा है न की एक मंजिल।
  • ख़ुशी एक सफर है, ना कि मंजिल।
  • हजार मील का सफर भी एक कदम से ही आरंभ होता है।
  • यात्रा के अंत तक पहुंचना अच्छा है, लेकिन अंत में वो यात्रा ही है जो मायने रखती है।
  • आओ संग में एक कहानी बनाते हैं, चलो कहीं घूम के आते हैं।
  • एक किताब पढ़ने से जितना सीखते हैं, उससे हजार गुना यात्रा करने से सीखते हैं।
  • इंसान के यात्रा करने के जुनून ने ही उसे चांद तक पहुंचा दिया।
  • आप खुशी को नहीं खरीद सकते हैं, लेकिन यात्रा के लिये हवाई जहाज का टिकट खरीद सकते हैं, ये खुशी खरीदने के बराबर है।
  • सबसे अच्छी यात्रायें सबसे अच्छे प्यार की तरह होती हैं, जिसका वास्तव में अंत नहीं है।
  • सही मार्ग पर चलना यात्रा है और बिना लक्ष्य के गलत राह पर चलना भटकना है।
  • यात्रा हर कोई करता है पर कुछ लोग पूरी दुनिया की यात्रा करते हैं और कुछ लोग सिर्फ घर से ऑफिस तक ही यात्रा करते हैं।
  • हर किसी को दुनिया घूमने का शौक़ नहीं होता, पर जिन्हें होता है वो इसकी असली क़ीमत समझते हैं।
  • यात्रा करने पर हम सबसे ज्यादा सीखते हैं।
  • चरैवेति चरैवेति॥ (चलते रहो, चलते रहो) - एक संस्कृत वाक्य/विचार


पर्यटन पर हिंदी मुहावरे


  1.  नौ सौ चूहे खाके बिल्ली हज को चली
  2. जैसा देश वैसा भेष
  3. अधर में लटकना या झूलना
  4. गधे के सिर से सींग की तरह गायब होना
  5. छूमंतर होना।
  6. उड़न छू होना
  7. कभी नाव गाडी पर, कभी गाडी नाव पर
  8. परमश्वर की माया, कहीं धूप, कहीं छाया
  9. बहती गंगा में हाथ धोना
  10. रफ़ू-चक्कर होना
  11. नौ दो ग्यारह हो जाना
  12. चम्पत होना
  13. ठहर-ठहर के चलिए, जब हो दूर पडाव
  14. देर आयद ,दुरुस्त आयद
  15. हरी झंडी दिखाना
  16. दूर के ढोल सुहावने (होते/लगते हैं)
  17. हवा से बातें करना
  18. आसमान पर चड़ना
  19. गंगा नहाना
  20. घाट घाट का पानी पीना
  21. लौट के बुद्धू घर को आये

बोलचाल के पर्यटन यात्रा शब्द


भारत के जनमानस में कुछ शब्द और बोल यात्रा से संबंधित इस तरह के बन गये हैं कि वो रोजाना की बोलचाल में बहुत ही ज्यादा प्रयोग होते हैं। इन सब बोल शब्दों को वाक्यों मे प्रयोग करके बोला जाता है और इन सबके मतलब को सब समझते है। जब आप यात्रा करते हुये भारत की जनता से घुले मिलेंगे तो आप को ये सब सुनाई देंगे। आइये देखें ऐसे ही 10 बोल - 
  1.  मछली बाजार - सब अस्त व्यस्त होना (Unorganized)
  2. भेड़ चाल - बिना सोचे किसी की बात के मानना (Herd Mentality)
  3. कछुआ चाल - बहुत ही धीरे धीरे काम करना (Slow Motion)
  4. घोड़े की तरह भागना - बहुत तेज दौड़ना (Walk like a Horse)
  5. चंपत होना - भाग जाना या गायब हो जाना (To hide)
  6. पतली गली से निकल - चुपचाप निकल जाना (Exit Silently)

Travelling Yatra Tourism Status Quotes in Hindi

पर्यटन पर संस्कृत विचार/वाक्य


  • चरैवेति चरैवेति॥  - चलते रहो, चलते रहो
  • पर्यटन् पृथिवीं सर्वां, गुणान्वेषणतत्परः। - जो गुणों की खोज में तत्पर है,वे लोग सारी पृथिवी घुमते है।
  • हदये सुखसम्पत्तिः पदे पर्यटनं फलम्। - उनके मन में सुख, संपत्ती और पैरों में पर्यटन होता है।
  • यस्मिन्प्रचीर्णे च पुनश्चरन्ति; स वै श्रेष्ठो गच्छत यत्र कामः। - जो लोग सामनेआए हुए (मार्ग) पर चलते है, वह श्रेष्ठ होते है और उनको अभीष्ट प्राप्त होता है।
  • चरन्ति वसुधां कृत्स्नां वावदूका बहुश्रुताः। - बुद्धीमान् और वाक्-कुशल लोग, सारी पृथ्वी घुमते है।
  • चरन्मार्गान्विजानाति  - पथिक व्यक्ति को मार्ग पता चलता है।
  • आस्ते भग आसीनस्य, ऊध्वर्स्तिष्ठति तिष्ठतः। शेते निपद्यमानस्य, चराति चरतो भगः। - बैठे हुए मनुष्य का सौभाग्य बैठा रहता है, उठ कर खडे होने वाले व्यक्ति का सौभाग्य भी उठ कर खड़ा हो जाता है,लेटे हुए मनुष्य का सौभाग्य सोया रहता है, और चलने वाले व्यक्ति का सौभाग्य उसके साथ- साथ चल पड़ता है।
  • चरन् वै मधु विन्दति, चरन् स्वादुमुदुम्बरम्। सूयर्स्य पश्य श्रेमाणं, यो न तन्द्रयते चरन्। - जो सदा श्रमशील, गतिशील हैं, वो सदा मधुपान (शहद/ अमृत / परिश्रम का सुफल) करते हैं, कर्मयोगी को सदा श्रेष्ठ कर्म का श्रेष्ठ परिणाम मिलता है। देखो, सूर्य कितना, कर्मशील और सृजन शील है, पल भर भी जो दूसरों के कल्याण के लिये अपने श्रम से कभी विमुख नही हैं ।
  • अन्योन्यवीर्यनिकषाः पुरुषा भ्रमन्ति। - एक दुसरे की पहचान जो वीरता से करते है, वे लोग घुमते है।
  • दुःखं हन्तुं सुखं प्राप्तुं ते भ्रमन्ति मुधाम्बरे। - वे आकाश में मुग्ध रूप से, दुःख भुलने के लिये और सुख के प्राप्ति के लिये घूमते (उडते) है (हमारी तरह)।
  • हृदि श्रीर्मस्तके राज्य पादे पर्यटनं फलम्। - उनके मन में संपत्ति, सिर के उपर राज्य (का दायित्व) और पैरों में पर्यटन होता है।
  • योजनानां सहस्त्रं तु शनैर्गच्छेत् पिपीलिका।  - शनैः शनैः ही सही, सतत चलते रहने पर, चींटी जैसी छोटी सी जीव भी सहस्रों योजन की यात्रा पूरी कर लेती है।
  • यस्तु संचरते देशान् यस्तु सेवेत पण्डितान् ।
  • तस्य विस्तारिता बुद्धिस्तैलबिन्दुरिवाम्भसि ॥ - भिन्न देशों में यात्रा करने वाले और विद्वानों के साथ संबंध रखने वाले व्यक्ति की बुद्धि उसी तरह बढ़ती है, जैसे तेल की एक बूंद पानी में फैलती है।


ट्रैवलिंग पर बॉलीवुड हिंदी फिल्म गाने

     

  1. ज़िन्दगी एक सफ़र है सुहाना यहाँ कल क्या हो किसने जाना (फिल्म अंदाज - सुने/देखें)
  2. जिंदगी का सफर है ये कैसा सफर कोई समझा नही कोई जाना नही (फिल्म सफर - सुने/देखें)
  3. मुसाफिर हूँ यारों, ना घर है ना ठिकाना, मुझे चलते जाना (फिल्म परिचय सुने/देखें)
  4. यूं ही चला चल राही, कितनी हसीन है ये दुनिया (फिल्म स्वदेस - देखें/सुनें)
  5. सुहाना सफर और ये मौसम हसीं (फिल्म मधुमती - देखें/सुनें)
  6. दुनिया की सैर कर लो (फिल्म  Around the World एराउंड द वर्ल्ड - देखें/सुनें)
  7. चला जाता हूँ किसी की धुन में धड़कते दिल के तराने लिए (फिल्म मेरे जीवन साथीदेखें/सुनें)
  8. वहां कौन है तेरा मुसाफिर जाएगा कहां, दम ले ले घड़ी भर (फिल्म गाइडदेखें/सुनें)
  9. हम हैं राही प्यार के... जो भी प्यार से हम उसी के हो लिये (फिल्म नौ दो ग्यारहदेखें/सुनें)
  10. क्या मौसम है, चल कहीं दूर निकल जायें (फिल्म दूसरा आदमी देखें/सुनें)
  11. चल सैर गुलशन की तुझको कराऊं (फिल्म चरणों की सौगन्ध देखें/सुनें)
  12. उड़ें, खुले आसमान में ख्वाबों के परिंदे (फिल्म जिन्दगी न मिलेगी दुबारा देखें/सुनें)
  13. चलो ना, ढूंढे शहर नया, जहां मुस्कराहटे हैं बिखरी... (फिल्म जिन्दगी न मिलेगी दुबारा देखें/सुनें)
  14. हम जो चलने लगे, चलने लगे हैं ये रास्ते (फिल्म जब वी मेट देखें/सुनें)
  15. किसी मंजर पर में रूका नहीं, कभी खुद से भी मैं मिला नहीं.. फिर से उड़ चला (फिल्म रॉकस्टार देखें/सुनें)
  16. धुआं छंटा खुला गगन मेरा, नयी डगर नया सफर मेरा...रूबरू (फिल्म रंग दे बसंती देखें/सुनें)
  17. धीरे चलना है मुश्किल जो जल्दी ही सही.. हम चले बहार में.. गुनगुनाती राहो में (फिल्म पीकू देखें/सुनें)
  18. आंखो मे सपने लिये, घर से हम चल तो दिये, जाने अब ये राहें ले जायेंगी कहां... तन्हा दिल.. (गायक शान देखें/सुनें)
  19. सफर.. कैसा है ये सफर, मंजिलों की न है कोई खबर (गायक भुवन बाम देखें/सुनें)
  20. ये हसीं वादियां ये खुला आसमां.. आ गये हम कहां... (फिल्म रोजा देखें/सुनें)
  21. यूं ही कट जाएगा सफर साथ चलने से,के मंजिल आयेगी नजर साथ चलने से  (फिल्म हम हैं राही प्यार के देखें/सुनें)
  22. जरा होले होले चलो मोरे साजना, हम भी पीछे हैं तुम्हारे (फिल्म सावन की घटा देखें/सुनें)
  23. मैं निकला गड्डी लेके, एक मोड़ आया (फिल्म गदर देखें/सुनें)
  24. घूमें बंजारे घूमें गलियां ये बेचारे (फिल्म फगली देखें/सुनें)
  25. ओ बन्देया, ढूंढ़े है क्या? राहें तेरी, हैं घर तेरा। चलना वहां खुद तक कहीं पहुंचे जहां (फिल्म नोटबुक देखें/सुनें)


पर्यटन पर बॉलीवुड हिंदी फिल्म संवाद/वाक्य


  1. रास्ते की परवाह करूंगा तो मंजिल बुरा मान जायेगी - फिल्म वंस अपोन ए टाइम इन मुंबई
  2. 22 तक पढाई 25 तक नौकरी 26 पे छोकरी 30 पे बच्चे 60 पे रिटायरमेंट और फिर मौत का इंतज़ार… ऐसी घिसी-पिटी ज़िन्दगी थोड़े ही जीना चाहता हूँ - फिल्म ये जवानी है दीवानी
  3. मैं उड़ना चाहता हूं, दौड़ना चाहता हूं, गिरना भी चाहता हूं, बस रुकना नहीं चाहता - फिल्म ये जवानी है दीवानी
  4. एक ही शहर एक ही घर एक ही कमरे में, तू अपनी सारी लाइफ काट देगी? सोच कर डर नहीं लगता - फिल्म ये जवानी है दीवानी
  5. मुझे पहाड़ो में जाना है, फिर से हिमालय देखना है, बाइक राइड, सनराइज, बोनफायर जलाना है - फिल्म ये जवानी है दीवानी - फिल्म रॉकस्टार
  6. जहां से तुम मुझे लाये हो, मैं वहां वापस नहीं जाना चाहती, पर ये रास्ता बहुत अच्छा है, मैं चाहती हूं कि ये रास्ता कभी खतम न हो - फिल्म हाईवे
  7. शादी के बाद न, हम पहाड़ों में रहेंगे, मुझे पहाड़ बहुत पसंद हैं। रियली! - फिल्म जब वी मेट
  8. हम लोगों को हर साल एक ना एक बार गोवा जरूर आना चाहिये - फिल्म दिल चाहता है
  9. पिघले नीलम से बहता हुआ ये सामान, नीली  नीली सी खामोशियां, ना कहीं है जमीन ना कहीं आसमां, सरसराती हुई टहनियां, पट्टियां कह रही हैं कि बस एक तुम हो यहां - फिल्म जिन्दगी न मिलेगी दोबारा
  10. दिन का पूरा फायदा उठाओ, मेरे दोस्त पहले इस दिन को पूरी तरह जियो फिर 40 के बारे में सोचना - फिल्म जिन्दगी न मिलेगी दोबारा
  11. मुझे यहाँ से कही दूर ले चल हार्दिक मुझे एक ब्रेक चाहिए, हमें एक ब्रेक चाहिए - फिल्म गो गोवा गौन



Travelling Safar Sher Shayari

सफर ट्रैवलिंग शेर-ओ-शायरी   


ज़िदगी किसी के लिये एक सुहाना और किसी के लिये मुश्किल सफ़र है। हम ताउम्र जीवन के अंजाने रास्ते पर चलते रहते हैं। शायरों और कवियों/गीतकारों ने जिंदगी रे सफ़र को अपने ढंग से समझा है और अपनी शायरी व कविताओं में ढाला है। पेश है 'सफ़र' पर मशहूर शायरों के कुछ चुनिंदा शेर -


सैर कर दुनिया की गाफिल, जिंदगानी फिर कहाँ? 
ज़िंदगी गर कुछ रही तो, नौजवानी फिर कहां? - राहुल सांकृत्यायन 


दुनिया-दुनिया सैर सफर थी शौक की राह तमाम हुई,
इस बस्ती में सुबह हुई थी, इस बस्ती में शाम हुई।।
 - सज्जाद बाकर रिज्वी


मैं अकेला ही चला था जानिब-ए-मंज़िल मगर
लोग साथ आते गए और कारवाँ बनता गया 
- मजरूह सुल्तानपुरी


जिनमें अकेले चलने के हौसले होते हैं
एक दिन उन्हीं के पीछे काफिले होते हैं


भीड़ का हिस्सा बनूं ये फितरत नहीं है मेरी 
मुझे आदत है अपने काफिले खुद बनाने की 


मशहूर हो जाते हैं वो जिनकी हस्ती बदनाम होती है,
कट जाती है जिंदगी सफ़र में अक्सर जिनकी मंजिलें गुमनाम होती हैं


किसी को घर से निकलते ही मिल गई मंज़िल
कोई हमारी तरह उम्र भर सफ़र में रहा 
-अहमद फ़राज़


न जाने कौन सा मंज़र नज़र में रहता है
तमाम उम्र मुसाफ़िर सफ़र में रहता है
-निदा फ़ाज़ली


ज़िंदगी है मुख़्तसर आहिस्ता चल
कट ही जाएगा सफ़र आहिस्ता चल 
- शाहीन ग़ाज़ीपुरी


मुझे ख़बर थी मेरा इन्तजार घर में रहा,
ये हादसा था कि मैं उम्र भर सफ़र में रहा 
-साक़ी फ़ारुक़ी


गर फिरदौस बर रुए ज़मीं अस्त, 
हमीं अस्तो, हमीं अस्तो, हमीं अस्त
जहांगीर ने कश्मीर के बारे में फारसी में कहा था - 
अर्थात अगर धरती पर कहीं स्वर्ग है तो यहीं है, 
यहीं पर है और सिर्फ यहीं पर है


सफर हो शाह का या काफिला फकीरों का
शजर मिजाज समझते हैं राहगीरों का


उम्र को हराना है तो शौक जिंदा रखिये,
घुटने चलें या न चलें मन उड़ता परिंदा रखिये


जिंदगी यूँ हुई बसर तन्हा
काफिला साथ और सफर तन्हा 
- गुलजार


काफिले इस राह पर आते रहे जाते रहे
राहबर सब को मसाफत का सिला देता रहा 
- कतील शिफाई


मजरूह काफिले की मिरे दास्तां ये है
रहबर ने मिल के लूट लिया राहजन का साथ
- मजरूह सुल्तानपुरी

आंख रहजन नहीं तो फिर क्या है
लूट लेती है काफिला दिल का 
- जलील मानिकपुरी


हुजूम ऐसा कि राहें नजर नहीं आतीं
नसीब ऐसा कि अब तक तो काफिला न हुआ 
- अहमद फराज


किन मंजिलों लुटे हैं मोहब्बत के काफिले
इंसां जमीं पे आज गरीब-उल-वतन सा है


मैं खुद भी शामिल नहीं सफर में
पर लोग कहते हैं, काफिला हूं मैं  
- वसीम बरेवली


मुझ को चलने दो, अकेला है अभी मेरा सफर
रास्ता रोका गया तो काफिला हो जाउँगा  
- वसीम बरेवली


खुशबू का काफिला ये बहारों का सिलसिला
पहुंचा है शहर तक तो मेरे घर भी आयेगा 
- मंसूर उस्मानी


तुम्हारा क्या तुम्हें आसां बहुत रास्ते बदलना है
हमें हर एक मौसम काफिले के साथ चलना है 
- जलील आली


आप इक और नींद ले लीजिये
काफिला कूच कर गया कब का 
- जौन एलिया


मंजिलों से कह दो किसी और की हो जायें
के अब तुझे पाने की हसरत नहीं रही 


मिलते गये हैं मोड़ हर मुकाम पर
बढ़ती गई हैं दूरियां मंजिल जगह जगह
 - सूफी तबस्सुम


राह में उस की चलना है ऐश करा दें कदमों को
चलते जायें चलते जायें यानी खातिर-ख्वाह चलें 
- जौन एलिया


लीजिये क्यूं अहसान किसी काफिले का
सफर में जब  तन्हा ही जाना पड़ता है


कुछ मेरे बाद और भी आयेंगे काफिले
काटे ये रास्ते से हटा लूं तो चैन लूं 
- तसव्वुर किरतपुरी


वो जीवन में क्या आये, बदल गयी जिंदगी हमारी, 
वरना सफ़र-ए-जिंदगी कट रही थी, धीरे-धीरे


दिल से मांगी जाए तो, हर दुआ में असर होता है, 
मंजिलें उन्हीं को मिलती हैं, जिनकी जिंदगी में सफ़र होता है


घूमना है मुझे सारा जहां, तुम्हें अपने साथ ले कें,
बनानी हैं  बहुत सी यादें, हाथों में तुम्हारा हाथ ले के


मंजिल बड़ी हो तो, सफ़र में कारवां छूट जाता है, 
मिलता है मुकाम तो, सबका वहम टूट जाता है


सफ़र-ए- जिंदगी का तू अकेला ही मुसाफिर है, 
बेगाने हैं ये सब जो अपनापन जताते हैं, 
छोड़ जाएँगे ये साथ इक दिन तेरा राहों में, 
वो जा आज खुद को तेरा हमसफ़र बताते हैं


इन अजनबी सी राहों में, जो तू मेरा हमसफ़र हो जाये, 
बीत जाए पल भर में ये वक़्त, और हसीन सफ़र हो जाये


बीत जाएगा ये सफ़र भी दर्द की राहों का, 
मिलेगा साथ जब खुशियों की बाहों का, 
बढ़ाते रहना कदम, मत रुकना कभी,
होगा रुतबा तेरा जैसे शहंशाहों का


रहेंगे दर्द जिंदगी में, तो ख़ुशी का इंतजाम क्या होगा? 
निकल पड़े हैं जो बदलने खुद को, 
न जाने इस सफ़र का अंजाम क्या होगा?


मशहूर हो जाते हैं वो, 
जिनकी हस्ती बदनाम होती है, 
कट जाती है जीवन सफ़र में अक्सर, 
जिनकी मंजिलें गुमनाम होती हैं


मुकम्मल होगा सफ़र एक दिन, 
बस दिल में ताजा जज़्बात रखना, 
तमाम मुश्किलें आएंगी लेकिन, 
अपने काबू में हर हालत रखना


दिल से मांगी जाए तो, 
हर दुआ में असर होता है, 
मंजिलें उन्हीं को मिलती हैं, 
जिनकी जिंदगी में सफ़र होता है


वो जीवन में क्या आये, बदल गयी जिंदगी हमारी, 
वरना सफ़र-ए-जिंदगी कट रही थी, धीरे-धीरे


सफ़र जो धूप का किया तो तजुर्बा हुआ...
वो जिंदगी ही क्या जो छाँव छाँव चली


आओ संग में एक कहानी बनाते हैं,
चलो कहीं घूम के आते हैं!


ज़ख्म कहां कहां से मिले हैं, छोड़ इन बातों को,
ज़िंदगी तू तो बता, सफर और कितना बाकी है


डर हम को भी लगता है रास्ते के सन्नाटे से 
लेकिन एक सफ़र पर ऐ दिल अब जाना तो होगा 
- जावेद अख़्तर


है कोई जो बताए शब के मुसाफ़िरों को 
कितना सफ़र हुआ है कितना सफ़र रहा है 
- शहरयार


अपनी मर्ज़ी से कहाँ अपने सफ़र के हम हैं
रुख़ हवाओं का जिधर का है उधर के हम हैं
-निदा फ़ाज़ली


सफर का एक नया सिलसिला बनाना है
अब आसमान तलक रास्ता बनाना है
तलाशने हैं अभी हम-सफर भी खोए हुए
कि मंजिलों से उधर रास्ता बनाना है
- शहबाज ख्वाजा


मिरे शौक-ए-सैर-ओ-सफर को अब नए
इक जहां की नुमूद कर
तिरे बहर ओ बर को तो रख दिया है कभी का 
मैं ने खंगाल कर
- असलम महमूद


न जाने कैसा रिश्ता है रहगुजर का कदमों से
थक के बैठ जाऊं तो रास्ता बुलाता है
- शकील आजमी


मुसीबतें लाख आएंगी जिंदगी की राहों में,
रखना तू सबर,
मिल जाएगी तुझे मंजिल इक दिन
बस जारी रखना तू सफ़र।


उम्र बीत गयी लेकिन
सफ़र ख़त्म न हुआ,
इन अजनबी सी राहों में जो
खुद को ढूँढने निकला।



है नसीबों में सफ़र तो
मैं कहीं भी, क्यूं रुकूं?
छोड़ के आया किनारे, बह सकूं जितना बहूं
दिन गुज़रते ही रहे, यूं ही बेमौसम
रास्ते थम जाये पर रुक न पायें हम
- फिल्म मलंग के गाने मलंग का एक मुखड़ा


कोई मंजिल नहीं बाकी है मुसाफिर के लिये
अब कहीं और नहीं जायेगा, घर जायेगा।
- असलम फारूखी



ट्रैवलिंग के ये शेर-शायरी, मुहावरे, गाने, वाक्य, विचार, Quotes, Status पढ़ कर यदि आपका ट्रिप पर जाने का मन कर रहा है, तो देरी किस बात की है, कार्यक्रम बनाओ, बैग पैक करो और घूमने निकल लो। 

आप भी यदि कोई यात्रा से संबंधित विचार, वाक्य, शेर-ओ-शायरी यहां पर बताना चाहें तो आपका स्वागत है। बताइये कोई नयी बात जो यहां पर बढ़ाई जा सके।

Manisha रविवार, 9 अगस्त 2020

11 बॉलीवुड कलाकार जिन्होंने अपने नाम वाले गानों में काम किया  Bollywood actors acted in songs with their names


बॉलीवुड फिल्म यानी कि हिंदी फिल्मों में गाने उनका महत्वपूर्ण हिस्सा होते हैं। फिल्मों में काम करने वाले कलाकारों को फिल्मों में काम करने के दौरान गानों पर एक्टिंग करनी होती है। 

हिंदी फिल्मों में कुछ गाने इस प्रकार बने हैं जिनमें फिल्मों के नामों का प्रयोग किया गया है। बहुत सारे गाने ऐसे बने हैं जिनमें फिल्मी कलाकारों का नाम इस्तेमाल किया गया है। पर कुछ ही गाने ऐसे बने हैं जिनमें जिन कलाकारों के नाम का प्रयोग किया गया है उन्हीं कलाकारों ने फिल्म में गाया भी है। यहां पर हम 11 ऐसे बॉलीवुड कलाकार के बारे में बता रहे हैं जिन्होंने अपने नाम वाले गानों में काम किया।


ऐसे कई 11 गाने यहां प्रस्तुत है जिनमें बॉलीवुड कलाकारों नें अपने नाम वाले गानों में काम किया है। 



1. अक्षय कुमार


अक्षय कुमार ने 1996 में आई बॉलीवुड फिल्म 'खिलाड़ियों का खिलाड़ी' में एक ऐसे गाने में काम किया था जिसमें 'अक्षय कुमार' नाम का इस्तेमाल किया गया था। गाने की लाईन थी - 'न हम अमिताभ, न हम दिलीप कुमार, हम हैं सीधे सादे अक्षय अक्षय'



2. श्रीदेवी

भारत की अब तक की सबसे लोकप्रिय और सुंदर अभिनेत्री श्रीदेवी जो कि अब हमारे बीच नहीं हैं ने बॉलीवुड की हिंदी फिल्मों के कैरियर के अपने आरम्भिक दौर में ही अपने नाम के गाने पर काम कर लिया था क्योंकि उन की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ रही थी। सन 1985 में आई फिल्म 'सरफरोश' में जितेन्द्र श्रीदेवी को श्रीदेवी कह कर गाना गा रहे हैं और श्रीदेवी इसमें काम कर रही हैं।


3. किशोर कुमार


किशोर कुमार ने एक गाना ऐसा अपनी आवाज में गाया और अपने ऊपर ही फिल्माया जिसमें अपनी और इनकम टैक्स (आयकर विभाग) की हंसी भी उड़ाई। इस गाने को देखिये इसके लगभग अन्त में अपना नाम लेकर गाया है। ये फिल्म है 1970 में बनी 'आंसू और मुस्कान'।



4. ऋृषि कपूर और रीना रॉय


1983 में आई फिल्म 'नौकर बीबी का' में ऋृषि कपूर और रीना रॉय दोनों ने एक मेहमान रोल किया था और ये एक गाना अपने नाम वाला गाया था। ज्ञात रहे कि ऋृषि कपूर का घर का प्यार से पुकारा जाने वाला नाम 'चिंटू' था। हम सबके प्यारे ऋृषि कपूर जी का देहान्त इसी साल 30 अप्रैल 2020 को हो गया।  ये गाना देख कर आप उनको याद कर सकते हैं।  रीना रॉय जी ने भी इसी गाने में अपने नाम वाले गाने पर अभिनय किया था।




5.  करीना कपूर


करीना कपूर इस जमाने की जानी मानी अभिनेत्री हैं। करीना कपूर का प्यार का नाम 'बेबो' है। 2009 में आई फिल्म 'कमबख्त इश्क' में करीना कपूर ने अपने इसी नाम बेबो वाले एक गाने को गाया था जो कि हर प्रकार से उनके ही ऊपर था।



6. बिपाशा बसु


बिपाशा बसु ने 2012 में प्रदर्शित फिल्म 'जोड़ी ब्रेकर्स' के लिये एक गाने के लिये अभिनय किया जिसमें नो अपना नाम बिपाशा बताते हुये नाच रही हैं। इस गाने में अपनी ही तारीफ करती हुई नजर आ रही हैं। 



7. उर्मिला मतोंडकर 


उर्मिला मतोंडकर ने सन 2000 में लोकप्रिय गोविंदा के साथ हीरोईन के रोल में 'कुंवारा' नाम की हिंदी फिल्म में काम किया था। इस फिल्म के एक गाने में गोविंदा उर्मिला मतोंडकर को उर्मिला उर्मिला कहते हुये गा रहे हैं और उर्मिला मतोंडकर अपने ही नाम वाले गाने पर अभिनय कर रही हैं।




8.  कादर खान


जी हां, आप ने ठीक पढ़ा, कादर खान पर भी एक ऐसा गाना गाया था जिसमें वो अपने को कादर खान के नाम से पुकार कर गा रहे थे। कादर खान ने अपना बॉलीवुड का कैरियर एक संवाद लेखक के तौर पर आरम्भ किया। फिर बाद में उन्होंने अभिनय के क्षेत्र में भी कदम रखा और शुरूआत में विलेन या खलनायक के रोल में नजर आये। बाद में उन्होंने चरित्र भूमिकाओं और हास्य में भी हाथ अजमाया। एक जमाने में उनकी लोकप्रियता इतनी अधिक थी कि वो 1980-90 लेकर 2000-2010 तक की अधिकांश फिल्मों में नजर आते थे। वर्ष 1991 में आई फिल्म 'प्यार का देवता' में उन्होंने एक गाना केवल अपने ऊपर कादर खान नाम के साथ गाया था।



9. सलमा आगा


सन 198 में आई फिल्म 'निकाह' से सुर्खियों में आई पाकिस्तानी कलाकार 'सलमा आगा' हिंदी फिल्मों में अपनी जगह बनाने में कामयाब रहीं। वो एक अभिनेत्री के साथ साथ एक गायिका भी थी। बहुत सारी फिल्मों में उन्होंने गाने गाये। लोकप्रियता का आलम ये था कि 1985 में उनको हीरोईन लेकर एक फिल्म सलमा बनी जिसमें वो हीरोईन थी। इस के अलावा 1986 में आई एक फिल्म 'आप के साथ' में सलमा आगा ने एक गाना गाया जिसके बोल थे 'मेरा नाम सलमा' और हालांकि इस गाने पर रति अग्निहोत्री ने अभिनय किया था पर सलमा आगा के गाये गाने 'मेरा नाम सलमा' पर उन्होने सलमा आगा के गेटअप और मेकअप में सलमा बन कर ही गाया था।





10. अमिताभ बच्चन और ऋषि कपूर


1983 में मनमोहन देसाई द्वारा बनाई और निर्देशित फिल्म 'कुली' में ही अमिताभ बच्चन को घातक चोट लगी थी और उनके करोड़ों चाहने वालों ने दुआयें की थी। ऐसे में अमिताभ की लोकप्रियता को भुनाने के लिये एक गाना उनके चाहने वालों द्वारा प्यार से कहे जाने वाले नाम 'लम्बू' के नाम से बनाया गया। इस गाने में ऋषि कपूर जो कि छोटे कद के हैं को 'टिंगू' कहा गया है और उन्होंने भी इस में काम किया है।



11. अमिताभ, रेखा, हेमा, जीनत इत्यादि कई कलाकार 


1979 में आई बेहद लोकप्रिय फिल्म 'गोलमाल' जो कि अपनी हास्य कॉमेडी के प्रसिद्ध है और आज तक अमोल पालेकर के डबल रोल और उत्पल दत्त की की अदाकारी के लिये याद की जाती है। इस फिल्म के एक गाने 'एक दिन सपने में देखा सपना' में अमोल पालेकर उस जमाने के कई अभिनेताओं और अभिनेत्रियों को नाम लेकर गा रहे हैं और इस गाने में इन सब कलाकारों ने काम भी किया है। गाने में अमिताभ बच्चन, हेमा मालिनी, जीनत अमान, रेखा इत्यादि का नाम लिया गया है और इन सब को दिखाया भी गया है।

Manisha शुक्रवार, 5 जून 2020

भारत में पोर्न बन्द नहीं हो सकता


भारत सरकार मे 857 पोर्न वेब साईटों को बन्द करने का आदेश क्या दिया, भारत में तुफान खड़ा हो गया
No Indecent thing about Porn in India

सब लोग विरोध में लगे हें। भारत सरकार डर कर वापस अपना आदेश वापस ले रही है।

जिस  देश में पोर्न की अभिनेत्री को पूजा जा रहा हो, इंटरनेट पर सबसे ज्यादा खोजा जा रहा हो, वहां पर बन्द नहीं हो सकता है पोर्न।

ध्यान देने की बात है कि अब कोई अश्लील सामग्री नहीं है अब केवल पोर्न है या बोल्ड है।

कामुकता और अश्लीलता अब पुराने जमाने की बातें हैं।

Manisha गुरुवार, 6 अगस्त 2015

अंग्रेजी नामों वाली हिंदी फिल्में बन रही हैं



अगर आप ने गौर किया हो तो शायद ये देखा हो कि आजकल प्रदर्शित होने वाली अधिकांश फिल्मों के नाम अंग्रेजी में हैं। पिछले कुछ दिनों में रिलीज हुई फिल्मों में  वांटेड, ऑल द बेस्ट, ब्ल्यू, वेक अप सिड, फ्रूट एंड नट, डू नॉट डिस्टर्ब  इत्यादि प्रमुख हैं। 

अंग्रेजी नाम वाली हिंदी फिल्में बन रही हैं


हालांकि पहले भी ऐसी फिल्में पहले भी बनती रही है लेकिन पिछले कुछ समय से इस तरह की अंग्रेजी नाम वाली फिल्में कुछ ज्यादा ही बन रही हैं। 

अपनी कॉमेडी फिल्मों के लिये प्रसिद्ध डेविड धवन  अंग्रेजी नाम का इस्तेमाल काफी समय से कर रहे हैं उनकी कई फिल्मों के नाम इसी तरह के थे जैस् कि कुली नंबर वन, आंटी नंबर वन, हीरो नंबर वन, बीबी नंबर वन, पार्टनर, लोफर, डू नॉट डिस्टर्ब इत्यादि रहे हैं। 

राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त निर्देशक मधुर भंडारकर की तो हर फिल्म का नाम अंग्रेजी का होता है। उन्होनें अब तक चांदनी बार, पेज थ्री, कॉरपोरेट, ट्रैफिक सिगनल, फैशन आदि बनाई हैं जो कि अंग्रेजी नामों की है और अब वो एक और फिल्म जेल लेकर आ रहे हैं। 


आने वाली कुछ फिल्में भी इसी तरह से अंग्रेजी नामों वाली बन रही हैं

 आखिर क्या कारण है इस तरह से फिल्में बन रही है। कुछ बातें इस बात का शायद जबाब दे सकें 
  • हिंदी फिल्में अब अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रिलीज होती हैं और अंग्रेजी नाम से थोड़ा फायदा मिल सकता है। हिंदी फिल्मों की अधिकांश कमाई प्रवासी भारतीयों द्वारा फिल्में देखने से होती है, लिहाजा उन्हीं के हिसाब से फिल्में बनती हैं।
  • इससे ये भी पता चलता है कि भारत में मल्टीप्लेक्स में फिल्मे देकने वाले मध्यम और उच्च वर्ग के लिये ही फिल्में बन रही हैं
  • ये भी पता चलता है कि देश के अंदर के देसी और अंदर के इलाकों के लोगों की समस्याओं और उससे संबंधित फिल्में अब कम बनने लगी हैं।
  • भारत में अंग्रेजी की स्वीकार्यता भी इससे पता चलती है।
मेरे विचार में अपवाद के रुप में तो अंग्रेजी नाम वाली हिंदी फिल्में तो ठीक हैं लेकिन अगर ये बहुतायत से होने लगे तो खतरे की घंटी है। हमें समय रहते चेत जाना चाहिये।

Manisha रविवार, 25 अक्तूबर 2009

ये पाकिस्तानी अखबार का चित्र है


गौर से देखिये ये भारत के किसी अखबार में छपने वाले विज्ञापन का चित्र नहीं, बल्कि पाकिस्तान के कराची शहर से छपने वाले डॉन (Dawn)  अखबार का चित्र है। 

Manisha शनिवार, 26 सितंबर 2009

कुछ प्रसिद्ध हिंदी फिल्म सीन 


पहले हमने हिंदी फिल्मों के कुछ सदाबहार डॉयलाग के बारे में बताया था। इधर अपनी हिंदी फिल्मों में कुछ ऐसे सीन होते हैं जो लगभग हर दूसरी फिल्म में शामिल होते हैं। इस सभी दृश्यों जो अब सिनेमा हॉल के पर्दे पर देखते हैं तो समझ जाते हैं कि अब क्या होने वाला है। कुछ तो इतने घिसे पिटे दृश्य हैें कि लगभग हर फिल्म में ही होते है। ऐसे ही कुछ सीन कुछ प्रसिद्ध हिंदी फिल्म सीन दृश्य यहां प्रस्तुत हैं।

  • हीरो हमेशा फर्स्ट क्लास फर्स्ट पास होता है और हमेशा BA करता है। MA तो कभी भी नहीं। आजकल की फिल्मों में थोड़ा परिवर्तन हुआ है अब हीरो MBA करता है।
  • अमीर प्रवासी भारतीय लड़के (हीरो) का नाम अधिकतर राज, आर्यन या राहुल होता है।
  • भारत के किसी भी जगह के गांव की कहानी हो, वहां की बोली हमेशा पूर्वी उत्तर प्रदेश के गांवों की होती है।
  • गांव की गोरी (हीरोईन) हमेशा चोली घाघरा ही पहनती है और उस पर हमेशा ही जमींदार या उसके बेटे की गंदी निगाह होती है।
  • गांव में रिटार्यड फौजी होता है जो बात बात में डींगें मारता है।
  • कहानी अगर शहर की तो रिटार्यड फौजी न होकर रिटार्यड कर्नल होगा जिसकी घनी मूंछें होती हैं और वो बात बात में गोली मारने की बात करता है तथा बर्मा की लड़ाई (कब हुई थी?) की कहानी सुनाता है।
  • अगर फिल्म में दो हीरो हों तो दोनो एक ही लड़की को चाहेंगे, दोनों ही एक दूसरे के लिये अपना प्यार कुर्बान करने को तैयार रहते हैं।
  • दो हीरो वाली फिल्मों में, दोनों हीरों में एक बार गलतफहमी तथा लड़ाई अवश्य होगी, यह लड़ाई हमेशा बराबरी पर छूटती है। अगर चाकू का इस्तेमाल इस लड़ाई में हो रहा है तो पहले एक हीरो की आंख या गर्दन तक चाकू जायेगा, फिर दूसरे हीरो की आंख और गर्दन तक।
  • हीरो चाहे जो करता हो, वो कार चला सकता है तथा जरुरत पड़ने पर हैलीकॉप्टर तथा हवाई जहाज उड़ा सकता है।
  • पुलिस हमेशा फिल्म के अन्त में आती है।
  • विलेन पूरी फिल्म में मौज करता है तथा कोई भी बात करते समय या गलत काम करते समय जोर जोर से हंसता रहता है।
  • अगर विलेन ऊंचे से या खास तौर पर हैलीकॉप्टर से भागते हुये हीरो पर गोली बरसाता है तो गोलियां हीरो के दोनो ओर लाइन बनाती हई गिरती हैं लेकिन हीरो को एक भी नहीं लगती है, अगर हीरो नीचे हैलीकॉप्टर पर निशाना लगाये तो एकदम निशाना लगता है। ये बात हॉलीवुड की फिल्मों पर भी लागू होती है।
  • हिन्दी फिल्मों के विलेन को फाईटिंग नहीं आती है।
  • हीरो जब विलेन को मार मार कर बाजी जीत रहा होता है तभी पता नहीं क्यों हीरो की हीरोईन, बहन एवं मां वहां आ जाती हैं जिन्हे विलेन के आदमी पकड़ लेते हैं तथा बाजी पलट जाती है।
  • विलेन के नाम डागा, जेके, संग्राम, जगताप, शक्ति, राका, लॉयन होते हैं और उनके नीचे के गुन्डों के नाम शंकर, जग्गू, राबर्ट, माइकल, रघू, राजा इत्यादी होते हैं। विलेन की महिला साथियों के नाम रीटा, मोना, सोनिया तथा मोनिका होते हैं। ये महिलायें मन ही मन हीरो को चाहती हैं तथा जब विलेन हीरो पर गोली चलाता है तब बीच में आकर अपनी जान दे देती हैं।
  • दारु का अड्डा हमेशा माइकल का होता है।
  • विलेन का साथ देने वाले नेता कार्टून टाईप के होते हैं और हमेशा बिहारी बोली बोलते हैं।
  • पुरानी फिल्मों में जज साहब कोई फैसला सुना रहे होते थे तभी अदालत के दरवाजे के पास से कोई जोर से चिल्लाता था "ठहरो! जज साहब..."।
  • विलेन की बहन या बेटी हीरो से प्यार करती है और इसको लेकर हीरो और विलेन में तनातनी रहती है।
  • अगर विलेन कोई खतरनाक काम के मंसूबे बना रहा होता है या कोई बड़ी प्रयोगशाला टाईप की जगह होती है तो विलेन हीरो को अपने जाल में फंसा हुआ जानकर अपना पूरा प्लान बता देता है, या पूरी प्रयोगशाला घुमाकर सब कुछ बता देता है।
  • विलेन हीरो को यह भी बता देता है कि उसके बाप का हत्या उसी ने की थी।
  • कॉलेज के प्रोफेसर हमेशा कार्टून टाईप के होते हैं जो कि साथी महिला प्रोफेसरों को पटाने की कोशिश करते रहते हैं।
  • कॉलेज का दादा हमेशा कॉलेज के ट्रस्टी का लड़का होता है, जो कि प्रिंसीपल को हमेशा धमकाता रहता है।
  • देवर हमेशा भाभी का लाड़ला होता है तथा अपना प्रेमिका के बारे में सब से पहले भाभी को ही बताता है, वो भी पहली बार में ही उस लड़की को पसन्द कर लेती है।
  • बुजुर्ग नौकर हमेशा रामू काका होता है।
  • सस्पेंस फिल्मों में जिस पर शक दिखाया जाता है, वो कभी अपराधी नहीं निकलता तथा कई बार तो उसी का कत्ल हो जाता है।
  • सस्पेंस फिल्मों में या खौफनाक फिल्मों में एक बूढ़ा चौकीदार होता जो कंबल ओढ़े रहता है और हाथ में लालटेन लेकर इधर से उधर घूमा करता है। इसका भी कत्ल हो जाता है।
  • हीरो अगर पुलिस का इंस्पेक्टर होता है तो वो जेब में इस्तीफा निकाल कर कमिश्नर की मेज पर जब चाहे तब पटक देता है।
  • पुलिस कमिश्नर अक्सर कार्टून टाइप का होता है।
  • पुलिस का इंस्पेक्टर हीरो गुन्डों के अड्डों पर अकेला ही जाता है और सब को मारकर हवालात में बंद कर देता है।
  • शादी के सीन में छोटी लड़कियां हंसती हुई इधर से उधर भागती रहती हैं।
  • हीरोईन बहू सुबह सुबह भजन गाती है। जबकि घर की बिगड़ी हुई औलादें पॉप म्यूजिक सुनती हैं।
  • विलेन या उसके साथियों को यदि गोली लगती है तो तुरन्त ही मर जाते हैं, लेकिन यदि हीरो को गोली लगी और उसको मरना है तो वो बहुत देर तक डॉयलाग बोलता है।
  • हीरो को यदि गोली लगेगी तो अस्पताल में डाक्टर हीरो के शरीर से गोली निकाल कर टीन के डब्बे में जोर से गिरायेगा।


और भी बहुत से ऐसे सीन हैं जो हमारी हिंदी फिल्मी में अक्सर दोहराये जाते हैं, सारे इस समय याद नहीं आ रहे हैं। याद आने पर यहां लिखती जाउंगी। यदि आप लोगों को भी ऐसे सीन पता हों तो बताइये, और यदि आप फिल्म बनाना चाहते हों तो यहां से कोई 10-15 सीन उठा लीजिये और अपनी फिल्म बना लीजिये।

Manisha शुक्रवार, 9 फ़रवरी 2007

सदाबहार हिंदी फिल्म डॉयलाग


हिंदी फिल्मों में संवाद अदायगी या डॉयलाग डिलीविरी पर काफी जोर रहा है। कई कलाकार तो अपनी संवाद डॉयलाग अदायगी के बल पर ही प्रसिद्धि पा गये। 

पुराने जमाने में हिंदी फिल्मों में कलाकार  मुख्यत: नाटकों व रंगमंच से ही आये थे, इस कारण उनकी संवाद अदायगी का तरीका थोड़ा नाटकीय था। सोहराब मोदी इस के उदाहरण हैं।

Manisha बुधवार, 24 जनवरी 2007